Wed. Jun 19th, 2024
15 अगस्त भाषण

15 August Speech in Hindi 2023 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस पर भाषण २०२३

15 August Speech in Hindi 202315 अगस्त भाषण: भारतीय स्वतंत्रता के महान उत्सव के रूप में

15 अगस्त भाषण: १

नमस्ते दोस्तों,
सभी भारतीयों को मेरा सादर नमस्कार। आज हम यहाँ इस महत्वपूर्ण दिन के उपलक्ष्य में एक साथ इकट्ठे हुए हैं, जब हम अपने राष्ट्रीय गर्व को महसूस करते हैं और हमारे स्वतंत्रता संग्राम के महान महापुरुषों को याद करते हैं। आज हम सभी भारतीयों के लिए गर्व का दिन है, जब हमारा देश आज़ाद हुआ था, और हमें एक स्वतंत्र भारत की ओर बढ़ने का अवसर मिला।
15 अगस्त 1947 की रात को, हमारे महान नेता महात्मा गांधी के नेतृत्व में, भारतीय जनता ने ब्रिटिश शासन से मुक्त होकर अपने आपको स्वतंत्र घोषित किया। उस दिन से हमारा मार्ग परिवर्तित हुआ और हमने स्वतंत्रता की दिशा में अग्रसर होने की शपथ ली। हमारे पूर्वजों ने अपनी कड़ी मेहनत, बलिदान और संघर्ष से यह सपना पूरा किया कि हम एक स्वतंत्र और आदर्श नागरिक राष्ट्र बना सकते हैं।
आज हमें यह गर्व महसूस होता है कि हम एक ऐसे देश में जीते हैं जो भूमि के विविधता में गर्व महसूस करता है, जहाँ धर्म, भाषा, संस्कृति और जाति की भावनाओं का सम्मान किया जाता है। हमारे संविधान ने हमें समानता और न्याय के माध्यम से आगे बढ़ने का मार्ग दिखाया है।
हमारे महान वीर और स्वतंत्रता सेनानियों ने अपने प्राणों की क़ुर्बानी देकर हमें एक आज़ाद देश में जीने का अवसर दिया। हमें उनका सम्मान करना हमारी प्राथमिकता होनी चाहिए, और हमें उनकी महानता को हमेशा याद रखना चाहिए।

यह अत्यंत महत्वपूर्ण है कि हम हमारे महान स्वतंत्रता सेनानियों की महानता को हमेशा याद रखें।इस दिन को मनाकर हम अपने देश के प्रति अपनी समर्पणा को पुनः ताजगी देते हैं। हमें यह स्मरण करना चाहिए कि हमें अपने कर्तव्यों का पालन करते हुए भारत को महान बनाने में अपना सहयोग देना है। साथ ही, हमें यह भी समझना चाहिए कि स्वतंत्रता का मतलब है अपने कर्तव्यों का निर्वहन करना, अपने देश के विकास में योगदान करना और समृद्धि की दिशा में प्रयासरत रहना।इस दिन के अवसर पर, हमें एक सकारात्मक सोच और संकल्प के साथ आगे बढ़ना चाहिए। हमें भारतीय समाज को समृद्धि, समानता और शांति की दिशा में अग्रसर करने के लिए सामर्थ्य और संयम से युक्त रहना चाहिए।आज, हमें अपने देश के बढ़ते हुए मानव संसाधन को संरचित तरीके से नियोजित करने, तकनीकी उन्नति में योगदान करने, और विज्ञान और तकनीक के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान करने का संकल्प लेना चाहिए।समापन रूप से, मैं आप सभी से यही कहना चाहता हूँ कि हमें अपने देश के प्रति अपने सामर्थ्य और संकल्प का परिचय देने का अवसर इस स्वतंत्रता दिवस पर प्राप्त हुआ है। हमें आगे बढ़ते हुए एक सशक्त, समृद्ध और एकत्रित भारत की दिशा में कठिनाईयों का सामना करना होगा, लेकिन हमें यकीन है कि हम सभी मिलकर इन चुनौतियों को पार करेंगे। (15 August Speech)

15 अगस्त भाषण: २

प्रिय देशवासियों,
सभी भारतीयों को मेरा सादर नमस्कार। आज हम इस शानदार महोत्सव के अवसर पर एक साथ उपस्थित हैं, जब हम अपने देश के विशेषता और गरिमा को सलाम करते हैं, और हमारे स्वतंत्रता संग्राम के महान वीर सपूतों को याद करते हैं। आज का दिन हम सभी भारतीयों के लिए एक गर्व की बात है, जब हमारा देश स्वतंत्रता की ऊँचाइयों को प्राप्त करने के लिए संकल्पित हुआ था और हमने इस सपने को साकार किया।
15 अगस्त, 1947 की रात ने हमारे देश की नींव नई ऊँचाइयों की ओर बढ़ने की शुरुआत की। उस दिन, हमारे महान नेताओं ने अपने अदृश्य बलिदान के माध्यम से हमें स्वतंत्रता की मित्र दी और हमारे देश की आज़ादी के मार्ग को प्रशस्त किया। महात्मा गांधी की नेतृत्व में लिए गए अहिंसा के मार्ग ने हमें दिखाया कि अखंडता और सामान्यता का मार्ग ही हमारे देश की स्वतंत्रता की कुंजी है।
हमारे स्वतंत्रता सेनानियों ने अपने जीवन की बलिदानी आहुति दी ताकि हम एक आज़ाद देश में जी सकें। उनका बलिदान और समर्पण हमें आज भी प्रेरित करता है, और हमें याद दिलाता है कि हमें अपने देश के प्रति अपने कर्तव्यों का पूरा करना है।
आज हम एक बड़े स्थानिक और वैशिष्ट्यपूर्ण चुनौती का सामना कर रहे हैं – स्वतंत्रता के बाद के दशकों में हमारे देश के विकास की दिशा में और भी महत्वपूर्ण कदम उठाने की। हमें अपने देश के सामाजिक, आर्थिक और राजनैतिक स्तरों पर सुधार करने के लिए संकल्पबद्ध रहना चाहिए।
हमें यह याद दिलाना चाहिए कि स्वतंत्रता सिर्फ एक दिन की बात नहीं है, बल्कि यह हमारे देश के प्रति हमारे कर्तव्यों की पहचान है। हमें स्वतंत्रता के साथ-साथ ज़िन्दगी को भी सफलता की दिशा में अग्रसर करने का संकल्प लेना चाहिए।
साथ ही, हमें अपने देश के विकास में सहयोग करने के लिए तकनीकी उन्नति, विज्ञान और तकनीक के क्षेत्र में योगदान करने का संकल्प लेना चाहिए। हमें आपसी समझदारी, सहयोग और एकता के साथ मिलकर एक बेहतर देश की दिशा में कदम बढ़ाना है।
इस श्रेणी की आज़ादी के बाद, हमें समाज में समानता, न्याय और विकास की दिशा में कदम बढ़ाने का संकल्प लेना चाहिए। हमें अपने स्वतंत्रता सेनानियों की आशीर्वाद में खरे उतरने का वचन देना चाहिए और उनके प्रेरणास्त्रोत के रूप में उन्हें याद करना चाहिए।
समापन रूप में, मैं आप सभी से यह आग्रह करता हूँ कि हम सभी मिलकर इस महान उत्सव को यादगार बनाएं और हमारे देश की सशक्ति और समृद्धि में योगदान करने के लिए समर्पित रहें। आओ, हम सभी एक सशक्त, सामृद्ध और एकत्रित भारत की ओर बढ़ें और हमारे देश को नई ऊँचाइयों तक पहुँचाएं। (15 August Speech)
धन्यवाद, जय हिंद!

अलग भाषण

नौकर भरती के लिये

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *